खुशखेड़ा औद्योगिक क्षेत्र में प्लॉट दिखाकर हड़पे 22 लाख रुपए, रजिस्ट्री नहीं करवाने पर मोहिंदर सेखों समेत दो लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज

NCRkhabar@Bhiwadi. कस्बे की आशियाना गुलमोहर सोसायटी (Ashiana Gulmohar Society) में रहने वाले एक व्यक्ति ने अपने परिचित को प्लाट दिलाने के नाम पर 22 लाख रुपए ले लिए लेकिन ज्यादा कीमत लेकर प्लॉट दूसरे को बेच दिया। नई दिल्ली (New Delhi) के रतनपार्क निवासी संदीप गोयल ने खुशखेड़ा पुलिस थाने में इस्तगासा के जरिए दर्ज कराई रिपोर्ट में बताया कि तावड़ू निवासी स्नेह पत्नी प्रेम सागर का खुशखेड़ा के रीको औद्योगिक क्षेत्र में एक प्लॉट है, जिसका मुख्त्यारनामा भिवाड़ी के आशियाना गुलमोहर सोसायटी निवासी मोहिंदर सेखों को नियुक्त किया गया है। संदीप ने बताया कि मोहिंदर सेखों ने परिचित होने की वजह से उससे संपर्क कर उक्त प्लॉट को खरीद करने का प्रस्ताव दिया। इसके बाद उसने मोहिंदर सेखों के साथ खुशखेडा जाकर उक्त प्लाट देखा। इस दौरान मोहिंदर सेखों ने बताया कि उक्त प्लॉट तावड़ू निवासी स्नेह का है और स्नेह ने उसे मुख्त्यारनामा आम नियुक्त किया हुआ है। संदीप ने बताया कि उसने मोहिंदर सेखों से उक्त प्लाट का सौदा 25 लाख रुपए में तय हो गया तथा उसने पांच लाख रुपए चेक संख्या 426985, कर्नाटका बैंक शाखा कीर्तिनगर, नई दिल्ली का मोहिंदर सेखों के नाम भरकर उसे सुपुर्द कर दिया। इसके बाद मोहिंदर सेखों ने अपने बैंक खाते में चेक लगाकर भुगतान प्राप्त कर लिया और प्लाट का इकारारनामा संदीप के नाम करा दिया। इकरारनामा में दर्ज है कि उक्त प्लाट पर किसी बैंक या संस्था का लोन आदि बकाया है तो उसका भुगतान विक्रेता चुकता कर एनओसी प्राप्त करेगे। संदीप ने बताया कि उसने शेष रकम की व्यवस्था कर मोहिंदर सेखों से अपने हक में बयनामा निष्पादित कराने का निवेदन करता रहा लेकिन वह कोई ना कोई बहाना बनाकर टालबाल कर देता था। इसके बाद संदीप ने रीको आफिस में गया तो उसे पता चला कि उक्त प्लाट पर विभिन्न संस्थाओ की रकम बकाया चल रही थी। इसके बारे में मोहिंदर सेखों से बात करने पर उसने कहा कि आप मुझे बकाया रकम में से कुछ राशि का भुगतान कर दो जिससे मैं बकाया लोन इत्यादि को चुकता करवा दूं और उसने 17 लाख रुपए अलग-अलग तारीख पर अपने बैंक खाते में डलवा लिए। पीड़ित संदीप ने बताया कि उसने 22 लाख रुपए मोहिंदर सेखों को भुगतान कर दिया और तीन लाख रुपए बकाया है। संदीप ने काफी दिनो तक प्लॉट का बयनामा अपने हक में कराने का निवेदन किया लेकिन आरोपी बहाना बनाकर टालमटोल करते चले आ रहे थे। संदीप ने शक होने पर उक्त प्लाट के संबंध में जानकारी प्राप्त की तो पता चला कि उक्त प्लाट का बयनामा गत 24 जनवरी को आरोपियों ने मिलकर हिलव्यू गार्डन सोसायटी भिवाड़ीनिवासी बबीता पत्री सुनील जांगिड के हक में करा दिया है। गत एक मार्च को प्लाट का बयनामा कराने की बात कही तो आरोपियों ने इन्कार  करते हुए कहा कि हमने प्लाट की महंगे दामो में बेच दिया है और तुमने जो होता है वो कर लो और उसके पूर्व में दिए गए 22 लाख रुपए वापस करने से भी इंकार कर दिया। पीड़ित ने खुशखेड़ा थाने में रिपोर्ट दी लेकिन रिपोर्ट नहीँ दर्ज करने पर कोर्ट में इस्तगासा के जरिए मामला दर्ज करवाया गया है।

Leave a Comment

[democracy id="1"]