भिवाड़ी समेत आसपास के इलाकों में उमंग व उल्लास से मनाई गई ईद, मुस्लिम समुदाय के लोगों ने एक-दूसरे के गले लगकर दी ईद की मुबारकबाद, देश में शांति व अमन-चैन की मांगी दुआ

ईदुल फितर की नमाज अदा करते लोग।

 

NCRkhabar@Bhiwadi. कस्बे सहित आसपास के इलाकों में ईद उल फितर का त्योहार उमंग व उल्लास के साथ मनाया गया। इस अवसर पर बच्चे से बूढ़े तक सभी नये कपड़े व रंगबिरंगी टोपियों में सजे हुए अपने-अपने गांव की मस्जिद व ईदगाह में नमाज के बाद एक दूसरे के गले मिलकर ईद की बधाई देते दिखाई दिए। इस अवसर पर नमाजियों की काफी भीड़ देखी गई। कई ईदगाह व मस्जिदें नमाजियों की भीड़ के सामने छोटी पड़ गई। जयपुर डिस्कॉम के सहायक अभियंता यूसुफ खान, बार एसोसिएशन भिवाड़ी प्रथम के अध्यक्ष शाहिद हुसैन, सीए रहीश मोहम्मद, इस्लामुद्दीन, हमीद खान, जमशेद खान व हनीफ सरपंच सहित मुस्लिम समाज के अन्य गणमान्य लोगों ने ईद की मुबारकबाद दी।

बुधवार को ईद का चांद दिखाई देने के साथ रमजान का मुबारक महीना रुखसत हो गया तथा लोग ईद की तैयारियां करने लगे। गुरुवार सुबह से ही मुस्लिम समाज के लोग नए-नए कपड़े पहनकर अपने-अपने इलाके की ईदगाह व मस्जिद की ओर नमाज अदा करने के लिए पहुंचने लगे थे। भिवाड़ी, टपूकड़ा, चौपानकी, कहरानी व मटिला सहित आसपास के इलाकों की ईदगाह व मस्जिदों में लोगों ने गुरुवार सुबह ऐहतराम के साथ ईद उल फितर की नमाज अदा कर खुदा का शुक्र अदा किया। नमाज के बाद ईमाम साहिबान ने लोगों से सच्चाई नक रास्ते पर चलने तथा गलत कामों से बचने का उपदेश दिया। ईद की खुशियों में अपने आस-पड़ोस के उन लोगों को भी शामिल करें जो किसी न किसी तरह से कमजोर हैं, उनकी मदद से नेकी मिलती है। ईद का त्योहार अमीर-गरीब का भेद मिटाकर सबको साथ चलने का संदेश देता है। नमाज के बाद  मुल्क में अमन-चैन, आपसी भाईचारे, सामाजिक सौहार्द, गुनाहों से माफी, जहन्नुम से बचाव व नेक रास्ते पर चलने के लिए दुआ मांगी गई। नमाज के बाद लोगों ने एक-दूसरे के घर पर जाकर सेवईयां व मीठे पकवान का आनंद लिया। ईद पर बधाई देने का सिलसिला देर शाम तक जारी रहा।
ईदुल फितर की नमाज अदा करते लोग।

 

Leave a Comment

[democracy id="1"]