राजस्थान की भजनलाल शर्मा सरकार का कल पेश होगा पहला बजट, उद्यमियों ने उद्योगों के समुचित विकास के लिए मांगा पर्याप्त बजट

राजस्थान विधानसभा में गुरुवार को भाजपा की भजनलाल शर्मा के नेतृत्व वाली सरकार पहला बजट पेश किया जाएगा। उपमुख्यमंत्री दीया कुमारी गुरुवार को विधानसभा में बजट पेश करेंगी। राज्य सरकार को सर्वाधिक राजस्व देने वाले भिवाड़ी शहर में समस्याओं का अंबार लगा हुआ है और अतिक्रमण से हालात विकट बन गया है। ऐसे में औद्योगिक नगरी के बाशिंदों को गंदे पानी की निकासी, सुरक्षा व्यवस्था, साफ सुथरी सड़कें, ढांचागत विकास, परिवहन सेवाओं के विस्तार सहित अन्य समस्याओं के समाधान की उम्मीद है। भिवाड़ी के गंदे पानी के निस्तारण की औद्योगिक बजट से काफी उम्मीद हैं।भिवाड़ी राजस्थान का प्रमुख औद्योगिक क्षेत्र है तथा यहां पर पांच हजार से अधिक उद्योगों में लाखों लोगों को रोजगार मिल है। इसके बावजूद यहां पर औद्योगिक सुविधाओं की कमी से उद्योगों के विकास पर बुरा असर पड़ रहा है।
– भिवाड़ी में उद्योगों के विकास के लिए नई सीईटीपी की स्थापना व औद्योगिक अपशिष्टों के उपचार के लिए बजट में पर्याप्त अनुदान दिया जाए। जल निकासी एवं उत्प्रवाह उपचार व्यवस्था में सुधार किया जाए। औद्योगिक क्षेत्र की कई सड़कों पर हमेशा पानी भरा रहता है, जिसके निकासी की उचित व्यवस्था जरूरी है। औद्योगिक भूखंडों की नीलामी की प्रक्रिया अधिक पारदर्शी होनी चाहिए। कुछ डीलरों ने बोली में दरें इतनी अधिक बढ़ा दी हैं कि दरें अवास्तविक हो गई हैं। कुछ प्लॉट ऐसे होने चाहिए जिनमें कम से कम 50 प्रतिशत आवंटन वर्तमान उद्योगपतियों को आवंटित किया जाए। दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल फ्रेट कॉरिडोर पर 24 मार्च से मालगाड़ियों का संचालन प्रांरभ हो जाएगा। भिवाड़ी में पांच हजार से उद्योग होने के बावजूद स्टेशन नहीं बनाया गया है । इसलिए भिवाड़ी में रेलवे स्टेशन होना चाहिए और कम से कम एक आईसीडी इससे जुड़ा होना चाहिए।  वर्तमान समय मे राजस्थान के उद्यमी हरियाणा के आईसीडी से अपने उत्पादों का निर्यात कर रहे हैं।
– राम नारायण चौधरी, अध्यक्ष बीसीसीआई।
– राजस्थान के आसपास के राज्यों में विद्युत दरें कम हैं, जिससे फर्नेस इकाईयों व उद्योगों को चलाना मुश्किल हो गया है। इसलिए उद्योगों को बंद होने से बचाने के लिए विद्युत दरें अन्य राज्यों के बराबर की जानी चाहिए। भिवाड़ी में सड़क, पानी, विद्युत लाईट व सुरक्षा के पुख्ता प्रबन्ध किया जाए। इसके अलावा भिवाड़ी को जिला बनाया जाए व धारुहेड़ा से खोरी बैरियर तक फ्लाईओवर बनाया जाए, जिससे जाम व गंदे पानी की समस्या से निजात मिल सके।
– अमित नाहटा, उद्यमी व पार्षद नगर परिषद भिवाड़ी।
भिवाड़ी के रामपुर मुंडाना औद्योगिक क्षेत्र में नालियों की सफाई नहीं होने से सड़क पर फैला हुआ पानी।

Leave a Comment

प्रभारी सचिव शिव प्रसाद नकाते ने की भिवाड़ी में जलभराव की समीक्षा, प्रदूषित पानी को खुले में छोड़ने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश, जिला प्रभारी सचिव ने आगामी मानसून को देखते हुए सीईटीपी एवं ड्रेनेज सिस्टम का किया निरीक्षण