खुशखेड़ा में टैंपो पलटने से स्टील प्लांट में काम करने जा रहे एक युवक की मौत, श्रमिकों ने लगाया ठेकेदार मिथलेश पर ईएसआई कार्ड नहीं बनाने का आरोप

NCRkhabar@Bhiwadi. खुशखेड़ा औद्योगिक क्षेत्र (Khushkehda Industrial Area) स्थित एक स्टील प्लांट  में काम करने जा रहे एक युवक की टैंपो पलटने से मौत हो गई जबकि ऑटो में सवार छह-सात लोग घायल हो गए। घायलों का प्राथमिक उपचार करवाकर रैफर कर दिया गया। मृतक बिहार (Bihar) के मुंगेर जिले का रहने वाला था और तावडू थाना क्षेत्र के खोरी गांव की एक कॉलोनी में किराए पर कमरा लेकर परिवार सहित रहता था। हादसे की जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में लोग भिवाड़ी जिला अस्पताल पहुंचे और मृतक की पत्नी के रोने की आवाज सुनकर वहां मौजूद लोग भी गमगीन हो गए।

जानकारी के अनुसार खुशखेड़ा औद्योगिक क्षेत्र स्थित एक स्टील प्लांट में काम करने के लिए तावडू के खोरी कलां से श्रमिक ऑटो से रोजाना  की तरह आते-जाते थे। शुक्रवार सुबह घना कोहरा होने के कारण श्रमिकों को लेकर जा रहे ऑटो चालक ने  खुशखेड़ा औद्योगिक क्षेत्र में स्पीड ब्रेकर पर असन्तुलन खो दिया और ऑटो पलट गया, जिससे ऑटो में बैठे श्रमिक उसके नीचे दब गए। ऑटो में सवार बिहार के मुंगेर जिला सपना कॉलोनी खोरीकलां थाना तावड़ू निवासी अजीत कुमार (40) पुत्र बचनेशवर सिंह गंभीर रूप से घायल हो गए। घायल को तुरंत अस्पताल के जाया गया, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची खुशखेड़ा थाना पुलिस (Khushkehda Police Station) ने भिवाड़ी जिला अस्पताल (Bhiwadi District Hospital) में पोस्टमार्टम करा शव परिजनों को सौंप दिया और मामले की जांच कर रही है। मृतक के परिवार में पत्नी ऊषा के अलावा पांच पुत्र- पुत्रियां हैं। मृतक की पत्नी ऊषा व बेटी का रो-रोकर बुरा हाल था। ऊषा ने बताया कि ठेकेदार उनके पति का ईएसआई काट रहा था लेकिन कार्ड बनाकर नहीं दिया है। उधर स्टील प्लांट में काम करने वाले मजदूरों ने बताया कि वह जय जगदंबा इंटरप्राइजेज की तरफ से फैक्ट्री में काम करते हैं और ठेकेदार मिथलेश प्रति माह वेतन से रुपए काटने के बावजूद उन्हें ईएसआई कार्ड बनवाकर नहीं दिया है। इस मामले से स्टील प्लांट के प्रबंधन ने यह कहकर बचने की कोशिश किया है कि हादसा उनकी फैक्ट्री के अंदर नहीं हुआ है और अगर ईएसआई कार्ड नहीं बनाया गया है, तो उसके लिए ठेकेदार जिम्मेदार है फैक्ट्री नहीं।
भिवाड़ी जिला अस्पताल में विलाप करती हुई मृतक की पत्नी व उसे ढांढस बंधाते लोग।

Leave a Comment