मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने दी मंजूरी : राजस्थान राज्य अग्रसेन कल्याण बोर्ड का गठन

NCRkhabar@Jaipur. राजस्थान सरकार (Rajasthan Govt.)  समाज के सभी वर्गों के कल्याण एवं उत्थान के लिए संकल्पित होकर कार्य कर रही है। समाज के सभी वर्गो के कल्याण का ध्येय रखने वाली राज्य सरकार ने राजस्थान राज्य अग्रसेन कल्याण बोर्ड ( Agarsen Welfare Board) का गठन किया है। यह बोर्ड अग्रवाल समाज ( Agarwal Community) की स्थिति का जायजा लेने के साथ ही प्रमाणिक सर्वे रिपोर्ट ( Survey Report) के आधार पर इन वर्गों को मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाने तथा इनके पिछड़ेपन को दूर करने के लिए राज्य सरकार को सुझाव देगा।
अग्रसेन कल्याण बोर्ड द्वारा समाज के कल्याण के लिए विभिन्न योजनाएं प्रस्तावित करने, वर्तमान में संचालित विभिन्न योजनाओं के संबंध में विभिन्न विभागों से समन्वय करने, समाज के परम्परागत व्यवसाय को वर्तमान तौर-तरीकों से आगे बढ़ाने, रोजगार को बढ़ावा देने तथा समाज के शैक्षणिक एवं आर्थिक उन्नयन तथा अग्रवाल समाज के व्यापार की उन्नति में आ रही अड़चनों तथा परेशानियों को दूर करने संबंधी सुझाव दिए जाएंगे। साथ ही, सामाजिक बुराइयों एवं कुरीतियों के विरूद्ध ठोस उपाय करने सहित अन्य सुझाव भी राज्य सरकार को प्रस्तुत किए जाएंगे।
राजस्थान अग्रसेन कल्याण बोर्ड में होंगे 5 गैर सरकारी सदस्य
राज्य अग्रसेन कल्याण बोर्ड में 5 गैर सरकारी सदस्य (अध्यक्ष, उपाध्यक्ष तथा 3 सदस्य) होंगे। इसके साथ ही वाणिज्यिक कर विभाग ( Department Of commercial Tax), उद्योग विभाग  ( Industry Department), शिक्षा (प्राथमिक/माध्यमिक) एवं संस्कृत शिक्षा विभाग, ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग, श्रम विभाग, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के शासन सचिव/आयुक्त/निदेशक अथवा उनके प्रतिनिधि बोर्ड में सरकारी सदस्य के रूप में होंगे। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के उप निदेशक स्तरीय अधिकारी बोर्ड में सचिव होंगे।
राजस्थान राज्य अन्य पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास सहकारी निगम लिमिटेड के प्रबंध निदेशक अथवा उनके प्रतिनिधि बोर्ड के विशेष आमंत्रित सदस्य होंगे। बोर्ड का प्रशासनिक विभाग सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग होगा।

Leave a Comment

प्रभारी सचिव शिव प्रसाद नकाते ने की भिवाड़ी में जलभराव की समीक्षा, प्रदूषित पानी को खुले में छोड़ने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश, जिला प्रभारी सचिव ने आगामी मानसून को देखते हुए सीईटीपी एवं ड्रेनेज सिस्टम का किया निरीक्षण